Watch Popular Video

loading...

अनोखा मंदिर : यहाँ चोरी करने से होती है मनोकामना पूर्ण...



Image result for सिद्धपीठ चूड़ामणि देवी का मंदिर
# हिंदू हो या कोई अन्य धर्म, सभी धर्मों में दान को सबसे महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है। भारत में अलग-अलग जगहों पर विविध प्रकार की अस्था, रस्म और मान्यताएं देखने को मिलती हैं।
# ऐसा ही एक मंदिर है उत्तराखंड में जहां दान के बदले चोरी की मान्यता है। जबकि मंदिर में चोरी तो महापाप होता है लेकिन इस मंदिर की कुछ ऐसी ही मान्यता है जहां पर चोरी करने के बाद ही आपकी मनोकामना पूरी होगी।
Image result for सिद्धपीठ चूड़ामणि देवी का मंदिर
# आज हम आपको इक एसे मंदिर के बारे में बता रहे जहां चोरी करने से आपकी सम्पूर्ण मनोकामना पूरी होगी ! ये अनोखा मंदिर है सिद्धपीठ चूड़ामणि देवी का मंदिर ! तो हम आपको बताते हैं की आखिर क्यों यहां चोरी करने के बाद पूरी होती है मनोकामना।
# ऐसी मान्यता है कि जिन्हें पुत्र की इच्छा होती है वो जोड़ा इस मंदिर में आकर माता के चरणों से लोकड़ा यानि लकड़ी से बना गुड्डा अपने साथ चोरी करके ले जाता है और पुत्र प्रा‌प्ति के बाद उस जोड़े को बेटे सहित यहां पर माथा टेकने आना होता है।

# मान्यता के अनुसार, पुत्र प्राप्ति के बाद भंडारा कराने के साथ दंपति आषाढ़ माह में मंदिर से चोरी किए हुए लोकड़े के साथ एक अन्य लोकड़ा भी अपने पुत्र के हाथों चढ़वाते हैं।
Image result for सिद्धपीठ चूड़ामणि देवी का मंदिर
# स्थानीय लोग बताते हैं कि इस मंदिर का निर्माण 1805 में लंढौरा रियासत के राजा ने करवाया था। एक बार जब राजा शिकार करने जंगल आए तो उन्हें माता की पिंडी के दर्शन हुए और उन्होंने पुत्र प्राप्ति की मन्नत मांगी। मनोकामना पूरी होने पर राजा ने मंदिर का निर्माण करवाया।

# ऐसा भी कहा जाता है कि आज जहां भव्य मंदिर बना हुआ है, वहां पहले घनघोर जंगल हुआ करता था। जहां शेरो की दहाड़ सुनाई पड़ती थी। माना जाता है कि माता की पिंडी पर शेर भी रोजाना माथा टेकने आते थे।

लहसुन करे आपके बालों के झड़ने की समस्या का समाधान...

Image result for लहसुन करे आपके बालों के झड़ने की समस्या का समाधान

आजकल बालों के झड़ने की समस्या से काफी लोग जूझ रहे हैं. बालों के विशेषज्ञ यह कहते हैं कि करीबन 100 बालों का रोज़ झरना ठीक है. हालांकि, समस्या तब आती है जब आपके बाल उस अनुपात में नहीं उगते जिससे झड़ते हैं. तब आप गंजे भी हो सकते हैं. बाज़ार में कई शैम्पू, सीरम और तेल मौजूद हैं जो कुछ ही दिनों में बालों की वृद्धि की गारंटी देते हैं

यह भी पढ़े ➩ दुनिया पर राज करने वाली इतिहास की सबसे प्रसिद्ध रानिया
➩ जाने रविवार को ही क्यों होती है छुट्टी | क्या है Sunday Holiday के पिच्छे की कहानी...
➩ अविष्कार जो हो गये गलती से...

अधिक जानकारी के लिए विडियो देखे -




यह भी पढ़े ➩ भारत के 5 सबसे बड़े चोर बाजार | महंगी चीज़ भी मिलेगी बहुत सस्ते दामों पर
➩ दुनिया की 10 सबसे लम्बी महिलाए...
➩ दुनिया की 5 सबसे अमीर मुस्लिम महिलाए...

लहसुन से दो हफ़्तों में चर्बी घटाए...

Image result for लहसुन से दो हफ़्तों में चर्बी घटाए

आज के समय मोटापा एक बहुत बड़ी समस्या बन गया है बहुत सरे लोग मोटापे से परेशान है हर 5 में से एक व्यक्ति मोटापे से परेशान है और आप सब जानते है की मोटापे के कारण बहुत सारी बीमारिया जन्म लेती है जिनमे प्रमुख है डायबिटीज हार्ट प्रोब्लेम्स और ब्लड प्रेशर आदि मोटापे का सबसे बड़ा कारण है

यह भी पढ़े ➩ जाने क्यों आपको ही काटते है सबसे ज्यादा मच्छर | एक शोध से चला पता...
➩ दुनिया के 5 सबसे खूबसूरत शहर
➩ भारत के 5 सबसे महँगे वकील | एक पेशी के लेते 25 रूपए तक

अधिक जानकारी के लिए विडियो देखे -




यह भी पढ़े ➩ क्यों रखते है प्रधानमंत्री मोदी के बॉडीगार्ड एक ब्रीफकेस
➩ अंबानी परिवार की बहुओं, टीना और नीता से जुड़ी कुछ खास बातें
➩ यह है दुनिया की सबसे सुन्दर लड़की | Most Beautiful Women In The World

ना करे माँ लक्ष्मी के इन स्वरूपो की पूजा - हो सकते आप कंगाल...

Related image

# लक्ष्मी प्राप्ति की इच्छा करने वाला हर जातक, अपने घर अथवा कार्य स्थान पर उनका चित्रपट अथवा स्वरूप विराजित कर उनका पूजन करता है। क्या आप जानते हैं देवी लक्ष्मी को स्थापित करने से पहले कुछ खास बातों की जानकारी होना अवश्य है अन्यथा हो सकते हैं कंगाल...

माँ लक्ष्मी के इन स्वरूपों की पूजा नहीं करनी चहिए -

#  शास्त्रों के अनुसार लक्ष्मी का वाहन निशाचर उल्लू है। ऊल्लू रात के समय अत्यधिक क्रियाशील होता है। जब लक्ष्मी एकांत, सूने स्थान, अंधेरे, खंडहर, पाताल लोक आदि स्थानों पर जाती हैं, तब वह उल्लू पर सवार होती हैं, तब उन्हें उलूक वाहिनी कहा जाता है। उल्लू पर विराजमान लक्ष्मी अप्रत्यक्ष धन अर्थात काला धन कमाने वाले व्यक्तियों के घरों में उल्लू पर सवार होकर जाती हैं !
Image result for लक्ष्मी जी
# लक्ष्मी माता के ऐसे स्वरूप का पूजन न करें, जिस पर वो उल्लू की सवारी कर रही हों। उनके इस रूप के पूजन से धन आगमन के सभी रास्ते बंद होने लगते हैं। अगर कहीं से धन आ भी जाए तो वो टिकता नहीं, खर्च हो जाता है !

#  लक्ष्मी जब गरुड़ पर सवार होती हैं, तब वो भगवान विष्णु के साथ विराजमान होती हैं। तब वह आकाश भ्रमण करती हैं तथा गरुड़ वाहिनी कहलाती हैं !

# श्री हरि विष्णु और देवी लक्ष्मी गरूड़ पर सवार हों, ऐसे स्वरूप को घर में रखने से कभी भी आर्थिक अभाव का सामना नहीं करना पड़ता। प्रतिदिन विधि-विधान से इस रूप का पूजन करने से घर में श्री जी सदा वास करती हैं !
Image result for लक्ष्मी जी
# लक्ष्मी जी के आठ स्वरूप हैं, उनके किसी भी स्वरूप को घर में स्थान दे सकते हैं। गृहस्थ लोगों के लिए बैठी लक्ष्मी समृद्धि-संपन्नता की प्रतीक हैं, कार्य स्थानों पर खड़ी लक्ष्मी का पूजन करने से दिन दुगुनी रात चौगुनी तरक्की होती है !

# देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए महालक्ष्मी का ऐसा स्वरूप विराजित करें, जिसमें वो श्री हरि विष्णु के चरण दबा रही हों !
Image result for लक्ष्मी जी
# महालक्ष्मी के साथ ही धन के देवता कुबेर देव को पूजने से पैसों से जुड़ी समस्याएं दूर हो जाती हैं। इसी वजह से किसी भी देवी-देवता के पूजन के साथ ही इनका भी पूजन करना बहुत लाभदायक होता है !

# यदि अपने कर्तव्यों का निष्ठा से पालन करते हुए श्री कुबेर की उपासना की जाए और कुबेर यंत्र पूजा घर में स्थापित किया जाए तो वे निश्चित प्रसन्न होकर व्यापार वृद्धि, धन वृद्धि, ऐश्वर्य, लक्ष्मी कृपा प्रदान कर घर में सुख-समृद्धि एवं सौभाग्य का आशीर्वाद देते हैं !
यह भी पढ़े 
 अदरक के ये चमत्कारी गुण, क्या जानते हैं आप?
➩ नपुंसकता से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे...
➩ इन 5 स्‍टेप से केवल 7 दिनों में घटायें पेट की चर्बी...

राशिफल : 23 जून : सिंह राशि वालों के लिए भाग्यशाली रहेगा शुक्रवार का दिन...


सिंह दैनिक राशिफल -

Daily
आप हंसी-मजाक के मूड में हैं ǀ अपनी इस विशेषता को बनाएं रखें जो आपको मुश्किल समय में भी चिंतामुक्त रखती है ǀ आप अपनी सक्रिय प्रवृति के कारण एक बिजनेस डील हासिल करने में कामयाब होंगे ǀ कोई आपसे प्रोत्साहन चाहता है.उसके मेंटर बन जाएँ ǀ अपने करीबियों के साथ अच्छा वक़्त गुजरेगा ǀ मछली खाते हुए सावधान रहें ǀ

सिंह स्वास्थ्य और कल्याण राशिफल -

Health & Wellness
ग्रहों का संकेत है कि आज चिंता का विषय शारीरिक के बजाय मानसिक स्वास्थ्य रहेगा ǀअगर आप कुछ समय से अजीब सा व्यवहार कर रहे हैं तो यह सबसे उपयुक्त समय है कि आप किसी अच्छे विशेषज्ञ की मदद लें ǀअगर आप अब इस पर ध्यान नही देंगे तो समस्या गंभीर हो जायेगी ǀकुछ तनाव की भी भूमिका है जिससे आप असहाय महसूस कर रहे हैं,इसके लिए भी आपको विशेषज्ञ की ही मदद लेनी होगी ǀ

सिंह प्यार और संबंध राशिफल -

Love & Relationship
आज आपको अपने साथी के अचानक आये बदलाव के कारण को जानने में मदद मिलेगी । आप कुछ समय से उसपर कम ध्यान दे रहे थे । आज अपने साथी को लाड़ प्यार करने का दिन है । आज अपने साथी को लंबी सैर या खरीदारी पर लेकर जायें । एक साथ शाम का खाना खायें । अपने साथी को बधाई दे । आप वही ताजगी और चिंगारी अपने जीवनसाथी में देखेंगे ।

सिंह कैरियर और धन राशिफल -

Career & Money
आज के दिन आपकी प्रतिभा को आपके उच्च अधिकारी पहचानेगें और आपके कार्य क्षेत्र में आपकी काफी प्रशंसा होगी और साथ ही साथ आपको घर में उपहार भी मिल सकता है जो आपके दिन को प्रज्जवलित करेगा और आप इस के हक़दार भी है । आपने अपने करियर को उठाने के लिए बहुत प्रयास किए है जिससे की आपको अपने कार्य की सराहना मिलेगी और अब उनके फल मिलने का समय भी है । आज के दिन आप कुछ महंगी खरीदारी में भी व्यस्त रहेंगे ।

राशिफल :जानिए आज का दैनिक राशिफल...


मेष - दिनचर्या अच्छी रहेगी। मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा। शिक्षा के क्षेत्र में प्रगति होगी। धन का लाभ होगा। परिवार में खुशी का वातावरण रहेगा।

वृष - मन में उत्साह रहेगा। व्यापार के प्रति असंतोष रह सकता है। मित्रों से विवाद न करें। राजकाज में सफलता प्राप्त होगी। संतान का सहयोग प्राप्त होगा।
मिथुन - व्यापार में प्रगति होगी। मित्रों का सहयोग मिलेगा। वाणी में मधुरता रहेगी। पराक्रम में वृद्धि होगी। किसी अच्छी यात्रा का योग है। राजकाज में सफलता प्राप्त होगी।
कर्क - व्यस्तता अधिक रहेगी। राजनीति में रूझान बढेगा। राजकाज में विलम्ब होगा। किसी अधिकारी से निकटता प्राप्त करने के लिए प्रयासरत रहोगे। धर्म में आस्था बढेगी।
सिंह - मन में तनाव रहेगा। व्यस्तता अधिक रहेगी। राजकाज में बाधा आयेगी। शत्रु परास्त होंगे। नये कारोबार की रूपरेखा बनेगी।

कन्या - कारोबार में लाभ होगा। अकस्मात व्यय का योग है। स्वास्थ्य में हीनता आयेगी। मन चलायमान रहेगा।
तुला - धन लाभ का योग है। शिक्षा के क्षेत्र में व्यय होगा। घर में प्रसन्नता का माहौल रहेगा। परिवार में सामंजस्य बना रहेगा।
वृश्चिक - स्वास्थ्य में हीनता आयेगी। उदर-विकार से परेशानी हो सकती है। कारोबार से लाभ होगा। प्रियजन से मिलाप होगा। सुधार के लिए प्रयास तेज होंगे।
धनु - निर्माण कार्य प्रारम्भ होगा। भूमि, भवन आदि का लाभ होगा। मान प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। परिवार में खुशी का माहौल रहेगा।

मकर - पारिवारिक समस्याओं का निदान होगा। धन आगमन में बाधा आयेगी। गुप्त शत्रु सक्रिय रहेंगे। वाणी पर संयम रखें।
कुम्भ - धन का लाभ होगा। मित्रों की सहायता करनी पड सकती है। वाहन अथवा किसी कीमती वस्तु की खरीददारी का प्रबल योग है।
मीन - धन का लाभ होगा। शत्रु पर विजय प्राप्त होगी। परिवार में प्रसन्नता का माहौल रहेगा। परीक्षा आदि में सफलता प्राप्त होगी। धर्म के प्रति आस्था बढेगी।

जानिए :आखिर क्यों ? पूजा में रखा जाता है कलश...

जानिए :आखिर क्यों ? पूजा में रखा जाता है कलश...
Image result for पूजन में कलश
# कलश स्थापना के बिना पूजा अधूरी मानी जाती है। जिस तरह पूजा करते समय रौली, पुष्प, फल का महत्व है उसी तरह पूजा में कलश की स्थापना का विशेष महत्व है। कलश की स्थापना करने से घर में सुख समृद्धि बढ़ती है और जिस कार्य सिद्धि के लिए पूजा की जा रही है उसमें सफलता मिलती है। आइए जानते हैं पूजा में कलश की स्थापना से पहले किन बातों का ध्यान रखना चाहिए !
# पूजा के दौरान कलश को अमृत कलश के समान माना जाता है। समुद्र मंथन के दौरान जो कलश निकाला गया था माना जाता है पूजा में भी उसी अमृत कलश का इस्तेमाल किया जाता है। अलग-अलग पूजा में अलग-अलग तरीके से कलश रखा जाता है। ज्योतिर्विद पं दिवाकर त्रिपाठी पूर्वांचली के अनुसार कलश अखंड दीप और नारियल का भी रखा जाता है। नवरात्रों में नारियल का ही कलश रखने का विधान है। इसके अलावा प्रसिद्धि के लिए अखंड दीप का कलश रखा जाता है।
किस चीज का हो कलश -
# पूजा में कलश सोने, चांदी, मिट्टी और तांबे का रख सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें कि लोहे का कलश पूजा में न रखें।

क्या है विधि -
# सबसे कलश जहां रखना है वहां मिट्टी की वेदी बनाई जाती है और उस पर हल्दी से अष्टदल बनाया जाता है। उसके ऊपर कलश रखा जाता है। कलश के अंदर पंच पल्लव, जल, दुर्वा, चंदन, पंचामृत, सुपारी, हल्दी, अक्षत, सिक्का, लौंग, इलायची, पान, सुपारी, डाले जाते हैं। इसके बाद कलश के ऊपर रोली से स्वास्तिक बनाया जाता है। कलश के ऊफर आम के पत्ते भी रखने का विधान है। कलश पर नारियल रखने से पहले ऊपर कटोरी में जौ या गेहूं रखे जाते हैं। कलश पर नारियल को लाल कपड़े से लपेट कर रखा जाता है। इसके बाद पंचोपचार से कलश का पूजन किया जाता है।
Image result for पूजन में कलश
कलश रखने से होते हैं ये फायदे -
# धार्मिक मान्यताओं की मानें तो कलश में नारियल रखने से घर बीमारी दूर होती हैं। कहा जाता है कि कलश पर नारियल का मूंह ऊपर की तरफ राहु के लिए रखा जाता है। नवरात्रों में कलश में नारियल रखने का विधान है।
# पूजा में कलश रखने से जिस कार्य सिद्धि के लिए पूजा रखवाई जाती है उसमें जरूर सफलती मिलती है।
# कलश के बिना पूजा अधूरी मानी जाती है। इसके अलावा इससे कर्ज से भी मुक्ति मिलती है।
# अखंड धन प्राप्ति के लिए लक्ष्मी कलश इसकी स्थापना की जाती है।
# नवरात्रों में कलश स्थापना का अलग महत्व है, इसकी स्थापना से मां दुर्गा की असीम कृपा भक्तों पर बनी रहती है और शत्रुओं पर विजय मिलती है।यह भी पढ़े ➩ जानिए : भगवान श्री गणेश का वाहन एक चूहा क्यों है ?
➩ जानिए : कैसे और किस के साथ हुआ था भगवान श्री गणेश का विवाह...
➩ मंगलवार को करें ये आसान उपाय - हनुमान जी चमका देंगे आपकी किस्मत...